Follow by Email

शनिवार, 22 जून 2013

ये यक्ष प्रश्न मांगे जबाव उतराखण्ड सरकार व आपदा प्रबन्धन विभाग से


·         लगता है उतराखण्ड सरकार को यह जानकारी ही नहीं है कि ऐसे दुर्गम पहाडी स्थानों पर भारी बारिश की वजह से कहां कहां पहाड गिर सकते है उतराखण्ड सरकार व प्रशासन को ये आभास ही नहीं है कि लोग कहां कहां फंसे हो सकते है और उनको कैसे निकाला जा सकता है ।

·         लगता है आपदा प्रबंधन विभाग के पास ऐसी आपदा से निपटने के लिए कोई कार्ययोजना ही नहीं है । कितना आश्चर्यजनक है कि पहाडों में होने वाली आपदाओं के बारे में इस विभाग के  कोई  तंत्र ही विकसित नहीं किया  तो फिर उनसे निपटने की कार्ययोजना कैसे बनती ।

·         जब 5 दिन बाद भी स्थानीय प्रशासन  व प्रदेश की सरकार द्वारा लोगों को नहीं निकाला जा सका तो सेना की मदद ली गई जबकि सेना को तुरन्त ही बुला लिया गया होता तो काफी लोगों की जान बचाई जा सकती थी

·         रेस्क्यू आपरेशन में लोगों को निकालने के साथ साथ जहॉ लोग फंसे है वहॉ पूरी रसद पहुंचाना भी काफी जरूरी है ताकि यदि मौसम साथ नहीं दे तो कम से कम वहां फंसे लोगों को खाना पानी व दवाईया तो मिल सके ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें